रविवार, 29 अप्रैल 2018

गुलमोहर

जब बरसती है
अम्बर से आग
तो कुदरत भी
लाल फूल ही खिलाती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Follow by Email