रविवार, 26 अप्रैल 2009

विकलांगता और फिटनेस के अजीब नियम

हमारे एक मित्र की एक आँख चोट की वज़ह से जा चुकी है पर नियमों के अनुसार उसकी विकलांगता का प्रतिशत40 से कम आता है और वह सामान्य श्रेणी से ही नौकरियों में आवेदन कर सकता हैइसीलिए वह हमेशा सामान्यश्रेणी से ही परीक्षाएं देता रहता है
हाल ही में उसका चयन स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में प्रतियोगी परीक्षा के माध्यम से हुआमेडिकल जांच में उसे सेवाके लिए अनफिट पाया गया
अजीब बात है की अगर उसकी विकलांगता का प्रतिशत थोड़ा सा और होता तो उसे उसी सेवा में सिर्फ़ आरक्षणमिलता बल्कि वह फिट भी होताअब थोड़ा कम विकलांगता प्रतिशत होने के चलते वह सामान्य श्रेणी से परीक्षाउत्तीर्ण करके भी सेवा में नही जा सकता

3 टिप्‍पणियां:

  1. इस मामले को उच्च न्यायालय या सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष उठाना चाहिए।

    उत्तर देंहटाएं
  2. यह तो वाकई गम्भीर मसला है। उसी पद/सेवा में विकलांग के लिये फिटनेस के अलग मानक कैसे हैं - यह तो भेद-भाव का मामला हो गया।

    उत्तर देंहटाएं

Follow by Email