रविवार, 31 मई 2009

बस यूँ ही




बरेली में भटकते हुए एक जगह ये दृश्य दिख गया तो हमने सोचा आप सबके लिए ले कर चलें ।
शुक्र कूड़ा कम ही है ।

7 टिप्‍पणियां:

  1. यहाँ थूकना मना है..तो लगता है कि इश्तेहार लगा है कि आओ, थूको!! जिस हिसाब से वहाँ लोग थूकते हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  2. ये तो हिन्दुस्तानी चरित्र है भाई ....

    उत्तर देंहटाएं
  3. मज़ाक मत कीजिये, हमें तो सही में कूड़ा कम लग रहा है, कई जगह तो ये लिखाई कूड़े के पीछे ढक जाती है!

    उत्तर देंहटाएं

Follow by Email