रविवार, 1 मार्च 2009

पलाश के फूल

लखनऊ के आस-पास अब पलाश के पेड़ बड़ी मुश्किल से मिलते हैं कल हमने निश्चय किया कि पलाश का पेड़ खोजना है कहते हैं खोजने पर भगवान् भी मिल जाता है तो फ़िर यह तो फूल ही था
कुछ फूलों को डिजिटल रूप में परिवर्तित कर के आपके सामने पेश करने का लोभ भी था कैमरा अच्छा नही था पर फोटो तो फोटो ही है !
वैसे फूलों का उपयोग नाराज़ लोगों को मनाने के लिए भी किया जाता है , ये फूल नाराज़ लोगों को मनाने के लिए भी है
उम्मीद है जो नाराज़ हैं , गुस्सा थूक देंगे

Follow by Email